Demo

उत्तराखंड समाचार: कुमाऊं क्षेत्र में बारिश के कारण पुलों को खतरा उत्पन्न हो गया है। शनिवार को भी कई स्थानों पर पुल ढह गए थे, और अब हल्द्वानी-देहरादून हाईवे पर बना पुल भी खतरे में है।

उत्तराखंड में चार दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण नदी-नाले उफान पर हैं। कई पुलों पर भी खतरा मंडरा रहा है। रविवार को हल्द्वानी-देहरादून स्टेट हाईवे पर चकलुवा के पास बने पुल को भी खतरा पैदा हो गया है। पानी के तेज बहाव से पुल के दोनों पिलर क्षतिग्रस्त हो गए हैं, जिससे यह पुल कभी भी ढह सकता है।

शनिवार को हुई बारिश के कारण भी कई स्थानों पर पुल टूट गए।रामनगर-भतरौंजखान मार्ग पर मोहान स्थित पन्याली नाले में तेज बहाव के कारण बना पुल टूट गया है, जिससे भतरौंजखान, भिकियासैंण और रानीखेत के लिए आवाजाही बंद हो गई है। यात्रियों को चिमटाखाल और हरड़ा मार्ग से भेजा जा रहा है।

यह भी पढ़ें: भारी बारिश के बाद विकराल रूप दिखा रही कोसी, गांवों में घुसा पानी; पलायन को मजबूर हुए ग्रामीण । जाने पूरी खबर ।

पिथौरागढ़ जिले में दारमा घाटी के माइग्रेशन ग्राम बोन को जोड़ने वाला च्युति गधेरे में बना पुल भी बारिश में बह गया है, जिससे गांव के 30 परिवारों का संपर्क मुख्य सड़क से कट गया है। तीजम और वतन तोक को जोड़ने वाला लकड़ी का पैदल पुल भी बह गया है, जिससे 18 परिवारों का संपर्क टूट गया है।चीन सीमा को जोड़ने वाला कैलाश मार्ग पर स्थित बैली ब्रिज भी खतरे में है।

Leave A Reply